दशहरा के मौके पर भगवान बद्री-केदार के कपाट बंद होने की तिथि हुई घोषित  

दशहरा के मौके पर भू बैकुंठ बद्रीनाथ धाम के कपाट बंद होने की तिथि घोषित हो गई है। बद्रीनाथ धाम के कपाट इस बार 18 नवंबर को 3:33 पर शीतकाल के लिए बंद कर दिए जाएंगे। जबकि ज्योतिष गणना के अनुसार केदारनाथ धाम के कपाट बंद करने की तिथि 15 नवंबर निहित की गई है। मौजूदा समय की बात करें तो अब तक 16 लाख से अधिक श्रद्धालु भगवान बद्री विशाल के दर्शन कर चुके हैं। बता दे की दशहरा पर्व के मौके पर हर साल भगवान बद्रीनाथ व केदारनाथ धाम के कपाट बंद होने की तिथि ज्योतिष गणना के अनुसार घोषित होती है। ऐसे में इस बार जहां 18 नवंबर को भगवान बद्रीनाथ के कपाट बंद होंगे तो वहीं 15 नवंबर को केदारनाथ धाम के कपाट भी शीतकाल के लिए 8:30 पर बंद कर दिए जाएंगे। बता दें कि इससे पहले गंगोत्री व यमनोत्री धाम के कपाट बंद होने की तिथि भी घोषित की जा चुकी है।

बदरी-केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय ने बताया कि मंगलवार को विजयदशमी के अवसर पर बदरीनाथ मंदिर परिसर में आयोजित एक समारोह में धर्माचार्यों, तीर्थ पुरोहितों व हक हकूकधारियों की उपस्थिति में पंचांग गणना के बाद कपाट बंद होने की तिथि निर्धारित की गई। इस समारोह का साक्षी बनने के लिए हजारों श्रद्धालु धाम में उपस्थित थे। आपको बता दें कि बदरीनाथ धाम के कपाट 27 अप्रैल को श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए थे।

यह भी पढ़ें –विजयदशमी का पर्व हमारे सामाजिक मूल्यों का प्रतिबिंब है- मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी 

(Visited 93 times, 1 visits today)