भारत ने बैट्मिंटन मे रचा इतिहास – थॉमस कप पहली बार भारत आयेगा

भारत ने बैट्मिंटन खेल मे रचा इतिहास  

पहली बार भारत आएगा थॉमस कप  

उत्तराखंड के लक्ष्य सेन की महत्वपूर्ण भूमिका 

 

आज भारतीय पुरुष बैटमिंटन टीम ने इतिहास रच दिया। बैंकॉक मे हुए अंतर्राष्ट्रीय मुक़ाबले मे भारतीय टीम ने एक रोमांचक कह खेलते हुए  14 बार थॉमस कप ट्रॉफी विजेता रही इंडोनेशियाई टीम को  3-1 से हराकर जीत दर्ज की। 70 वर्षो के थॉमस कप के इतिहास कोई भी भारतीय टीम यहाँ तक नई पहुँच पाई थी। हालांकि 1952, 1955 और 1979 मे भारतीय पुरुष टीम सेमीफाइनल तक पहुँचने मे कामयाब रही थी ।

भारतीय खिलाड़ियो की इस टीम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने ट्वीटर और फोन पर संपर्क कर बधाई दी है। उन्होने कहा ये जीत भारतीय खिलाड़ियों के लिए एक प्रेरणा का काम करेगी ।

विजेता टीम मे महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले लक्ष्य सेन उत्तराखंड के अल्मोड़ा के रहने वाले है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी लक्ष्य सेन और पूरी टीम को ट्वीटर के माध्यम से बधाई दी है। उन्होने कहा

अल्मोड़ा के रहने वाले उत्तराखण्ड के सपूत, प्रतिभावान बैडमिंटन खिलाड़ी श्री लक्ष्य सेन जी को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं देता हूं जिन्होंने अपने शानदार प्रदर्शन से भारतीय बैडमिंटन टीम को थॉमस कप जिताने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

 

 टीम मे लक्ष्य के अलावा किदांबी श्रीकांत, एचएस प्रणय, युगल जोड़ी सात्विक साईराज रंकीरेड्डी-चिराग शेट्टी ने अपना अच्छा प्रदर्शन किया।

 

(Visited 52 times, 1 visits today)