केदारनाथ सहित चारधाम मे यात्रियों की मौत का आंकड़ा सैकड़ा पार

चारधाम यात्रा के दौरान मरने वालो का आंकडा सैकड़ा पार 

उत्तराखंड में 3 मई को शुरू हुई बहुप्रशिक्षित चारधाम यात्रा मे अब तक करीब 10 लाख लोगों ने प्रतिभाग कर लिया है। परंतु तमाम सरकारी सुविधाओं के दावों के बावजूद यात्रा मार्गों पर श्रद्धालुओं की मौत का सिलसिला नहीं थम रहा है । 7 मई को केदारनाथ धाम के कपाट खुलने के बाद से अब तक केदारनाथ सहित सभी चारधाम यात्रा मार्गों पर अब तक कुल 104 तीर्थयात्रियों की मौत हो चुकी है। इसमे भी सबसे ज्यादा मौते केदारनाथ और यमुनोत्री मे हुई  हैं। शनिवार को भी 4 श्रद्धालुओं की मौत की खबर है।

हार्ट अटैक से हुई अधिकतर मौतें 

चारधाम यात्रा मार्गों पर प्रदेश सरकार द्वारा स्वस्थ्य जांच शिविरों व SDRF की ततक्षण सुरक्षा के बावजूद श्रद्धालुओं की मौत का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। डॉक्टर्स के अनुसार ज़्यादातर मौतें हार्टफेलिअर के कारण हो रही हैं। जिसका मुख्य कारण हाई एल्टिट्यूड के कारण हो रही स्वास्थ्य समस्या है। जिससे अधिक उम्र के लोगों को केदारनाथ सरीखे दुर्गम चड़ाई और कम आक्सीजन वाले क्षेत्र मे स्वास्थ्य समस्याए होने लगती हैं। जिससे हार्टअटैक की समस्या के चलते व्यक्ति की मृत्यु हो रही है। कल ही रताकोंडा शेखर बाबू,  64 वर्ष, आंध्रप्रदेश, प्रेमा पाटीदार, 71 वर्ष , मध्यप्रदेश, प्रेमजी रामजी वाई यादव, 62 वर्ष ,भावनगर, गुजरात और बीरेंद्र सिंह कटारा,मध्यप्रदेश की मृत्यु भी हार्टअटैक से हुई है।

सांस लेने में हो रही दिक्कत

चारधाम यात्रा में आये ज्यादातर श्रद्धालुओं को सांस लेने में काफी दिक्कत हो रही है। जिससे हार्टअटैक के कारण होने वाली मौत के आंकडों में निरंतर इजाफा हो रहा है। यात्रा के दौरान कम ऑक्सीज़न और ऊंचाई के कारण यात्रियों को सांस लेने में काफी परेशानी हो रही है। सीएमओ ने बताया कि शनिवार को 267 श्रद्धालुओं  को ऑक्सीजन उपलब्ध कराई गई है।

श्रद्धालु साथ नहीं ला रहे हेल्थ सार्टिफिकेट

चारधाम यात्रा की शुरूआत में सीएम पुष्कर सिंह धामी ने लोगों को सलाह दी थी कि यात्रा में आने से पूर्व अपना हेल्थ चेकअप अवश्य कराये और जो लोग इस क्षेत्र मे यात्रा करने के लिए मेडिकली अनफिट हैं, वो डॉक्टर की सलाह के बिना यात्रा शुरू न करें। यदि किसी की कोई दवाई चल रही है, तो वो अपने साथ दवाईयों की अतिरिक्त खुराक जरूर रखें, और अपने साथ चिकित्सक का पर्चा अवश्य साथ लाये। यात्री विल्कुल ठीक होने के बाद ही चारधाम यात्रा का प्लान बनाये और अपने साथ डॉक्टर द्वारा दिया गया हैल्थ फिटनेस सार्टिफिकेट अवश्य लायें। परंतु ज़्यादातर लोग सरकार के आदेशों की अनदेखी कर रहे हैं, जिससे यात्रियों के स्वस्थ्य रेकॉर्ड नहीं मिल पा रहा।

(Visited 40 times, 1 visits today)

One thought on “केदारनाथ सहित चारधाम मे यात्रियों की मौत का आंकड़ा सैकड़ा पार

Comments are closed.