सिद्धू मूसेवाला को दी गई अंतिम विदाई, एक गिरफ्तारी के साथ 7 हिरासत में

मशहूर पंजाबी गायक सिद्दू मूसेवाला को आज उनके गाँव मूसा मे अपने ही खेत मे अंतिम विदाई दे दी गई 

हत्याकांड के तीसरे  दिन बाद आखिरकार मूसेवाल को अंतिम विदाई दे दी गई। उनका अंतिम संस्कार उनके ही गाँव मूसा मे किया गया। गायक के अंतिम दर्शनों के लिए बड़ी संख्या मे प्रशंसक पहुचे थे। सभी अपने चहेते गायक के आखिरी बार दर्शन करना चाहते थे।

 

सिद्धदु के माता-पिता ने भी नम आँखों से अपने चहेते और होनहार बेटे को अंतिम विदाई दी। साथ ही गायक के पिता ने पगड़ी उतार कर प्रशंसकों का धन्यवाद किया। जीवन की अंतिम यात्रा मे  भी गायक अपने पसंदीदा ट्रैक्टर पर ही निकले। जिसे उन्होने अपने कई वीडियोस मे इस्तेमाल किया था।

पिता ने पगड़ी उतार कर किया धन्यवाद

29 तारीख को की गई थी हत्या

गौरतलब हो कि 29 तारीख को पंजाब के मनसा जिले के जवाहर गाँव मे अज्ञात हमलावरों ने सिद्धदु मूसेवाला की हत्या कर दी थी। इस हत्याकांड मे सिद्धदु को करीब 24 गोलियाँ लगी थी।  जिससे उन्हे जरा भी संभलने का मौका नहीं मिला और मौके पर ही उनकी मौत हो गई। हालांकि बाद मे पुलिस की तलाशी मे पता चला था कि मूसेवाला ने भी अपने बचाव मे गोली चलाई थी परंतु हमला सामने से होने और बहुत तेजी से होने के कारण वो खुद को बचाव नहीं कर पाए थे। अंतिम दर्शनों के लिए उमड़ी भीड़ को रोकने के लिए पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी।

पंजाब सरकार के काम करने के तरीकों पर सवाल

इस हत्याकांड के बाद पंजाब सरकार पर भी वीआईपी सुरक्षा मे चूक को लेकर गंभीर सवाल उठे है। प्रमुख राजनीतिक दलों के अलावा, आम लोगों ने भगवंत मान सरकार के फैसलों पर प्रश्नचिन्ह लगे हैं। आज अंतिम संस्कार मे पँहुचे प्रसंशकों ने भी पंजाब सरकार मुर्दाबाद के नारे लगाए। कल ही उत्तराखंड एसटीएफ़ और पंजाब एसटीएफ़ ने देहरादून से 6 संदिग्धों कि गिरफ्तारी की थी जिनमे से एक हत्याकांड के मास्टर माइंड माने जा रहे लारेंस विश्नोई का शार्प शूटर भी है।

7 संदिग्ध हिरासत में, देहरादून से मनप्रीत को किया गिरफ्तार

अब तक इस मामले मे 7 संदिग्धों को हिरासत मे और मनप्रीत नाम के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। मनप्रीत को कल ही 5 अन्य के साथ-साथ हत्यारों को लॉजीस्टिक मुहैया कराने के शक पर देहरादून से उत्तराखंड पुलिस और पंजाब पुलिस ने हिरासत मे लिया गया था। और आज उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। इसके अलावा जालंधर के नकोदर से जगदेव सिंह नमक व्यक्ति को भी गैंगस्टर्स को सिम उपलब्ध करने के शक चलते हिरासत में लिया गया है। साथ ही बठिंडा के गांव भागीबांदर से पुलिस ने कोरोला गाड़ी के मालिक को भी हिरासत मे लिया है। यही गाड़ी मूसेवाला की हत्या में इस्तेमाल हुई थी ।

 

 

 

(Visited 18 times, 1 visits today)