अब केदारनाथ मंदिर परिसर में जूते चप्पल पहनकर नहीं जा पाएंगे श्रद्धालु, मंदिर समिति ने शासन को भेजा प्रस्ताव

केदारनाथ मंदिर परिसर में जूते चप्पल पहनने पर जल्द रोक लगनी वाली है। बद्री केदार मंदिर समिति ने इस सम्बंध में शासन को प्रस्ताव भेजा है। देखने मे आया है कि कई श्रद्धालु नंदी की मूर्ति तक जूते चप्पल पहनकर पहुँच जाते हैं जिससे केदारनाथ धाम की पवित्रता और धार्मिक आस्था को ठेस पहुँच रही है।

बद्री केदार मंदिर समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय ने सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर को इस सम्बंध में एक प्रस्ताव भेजा है। जिसमे उन्होंने मंदिर परिसर में एक निश्चित दूरी पर जूते चप्पल उतारने की बात कही है साथ ही मंदिर में परिक्रमा करते समय उचित दूरी निर्धारित करने को भी कहा है।

क्या मंदिर समिति भी करेगी, नियम का पालन

आपको बता दें कि केदारनाथ में 2013 में आयी आपदा के बाद केदारनाथ का पुनर्निर्माण कार्य निरंतर भव्य रूप ले रहा है। जिसको ध्यान में रखकर मंदिर समिति ने ये निर्णय लिया है। लेकिन अब सवाल उठता है कि क्या ये नियम केवल तीर्थयात्रियों और श्रद्धालुओं के लिए ही होगा या इस नियम का पालन मंदिर समिति के सदस्य और पदाधिकारियों के लिए भी होगा या वो पूरे परिसर में जूते चप्पल पहनकर घूमने को स्वतंत्र होंगे?

(Visited 12 times, 1 visits today)

One thought on “अब केदारनाथ मंदिर परिसर में जूते चप्पल पहनकर नहीं जा पाएंगे श्रद्धालु, मंदिर समिति ने शासन को भेजा प्रस्ताव

Comments are closed.