आईएएस आनंद वर्धन से कार्मिक विभाग ने एनओसी ली वापस, उत्तराखंड में ही देंगे,आगे की सेवाएं

देहरादून: उत्तराखंड की धामी सरकार ने आईएएस आनंद वर्धन की एनओसी वापस लेकर उन्हें केंद्र में भेजने से मना कर दिया है। दरअसल उत्तराखंड नौकरशाही में अधिकारियों की भारी कमी है। जिसके चलते धामी सरकार ने आईएएस आनंद वर्धन को केंद्र भेजने से मना कर दिया है। अब आनंद वर्धन अपनी आगे की सेवा उत्तराखंड में देंगे।

कार्मिक विभाग ने एनओसी ली वापस

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार अपर मुख्य सचिव वरिष्ठ अधिकारी आनंद वर्धन की केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर जाने की लगभग पूरी तैयारी हो चुकी थी। और राज्य सरकार ने भी उनकी केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर जाने के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) भी जारी कर दी थी। लेकिन अचानक धामी अब कार्मिक विभाग ने आनंद वर्धन से उनकी एनओसी को वापस ले लिया है।

सरकारी कामकाज का है लंबा अनुभव

 आपको बता दें कि 1992 बैच के आनंद वर्धन सिर्फ तेज तर्रार अधिकारी की ही नहीं बल्कि अपने काम के प्रति ईमानदार अफसरों में भी सुमार हैं । उनकी कर्तव्यनिष्ठा के कारण धामी सरकार ने उन्हें कई बड़े विभाग सौंपे हैं । आनंद वर्धन के पास सरकारी कामकाज का एक लंबा अनुभव है । और उनके इस अनुभव का सरकारों को लाभ भी मिलता रहा है । मौजूदा समय में वो सीएम धामी के बेहद करीब बताए जाते हैं

(Visited 61 times, 1 visits today)