मणिपुर: नोनी के आर्मी कैंप में भूस्खलन से भारी नुकसान, 50 जवानों के हताहत होने की आशंका

मणिपुर के नोनी जिले में एक रेलवे निर्माण स्थल पर हुए भीषण भूस्खलन में करीब 7 जवानों की मौत हो गई। ये भयानक भूस्खलन लगातार बारिश के चलते हुआ है। इस भूस्खलन से जिरीबाम-इंफाल नई लाइन परियोजना के तुपुल स्टेशन की इमारत को भारी नुकसान पहुंचा है। भूस्खलन के कारण ट्रैक निर्माण व मजदूरों के कैंप बुरी तरफ तबाह हो गए हैं। फिलहाल राहत और बचाव ऑपरेशन जारी है। जानकारी है कि गोरखा रेजीमेंट के टीए यूनिट के 26 जवान लापता हैं। जिनमें से 7 जवानों और एक रेलवे के मजदूर की मौत की खबर है। फिलहाल रेस्क्यू से करीब 19 लोगों को बचा लिया गया है।

सीएम बिरेन सिंह मौके पर पहुँचकर लिया जायजा

राहत और बचाव अभियान की निगरानी के लिए मणिपुर के सीएम बिरेन सिंह भी मौके पर पहुंच चुके हैं। फिलहाल 19 लोगों को बचा लिया गया है, जिनका नोनी आर्मी मेडिकल यूनिट में इलाज चल रहा है। बताया जा रहा है कि करीब 45 लोग अब भी लापता हैं। गंभीर रूप से घायलों को निकालने का काम चल रहा है। हालांकि खराब मौसम और ताजा भूस्खलन के कारण बचाव कार्य खासा प्रभावित हो रहा है।

अधिकारियों ने दी घटना की जानकारी

मणिपुर के नोनी जिले में हुए इस भीषण भूस्खलन में करीब 7 जवानों की मौत हो गई है। जबकि अभी भी घटनास्थल पर सेना के कई जवानों समेत दर्जनों लोगों के फंसे होने की आशंका है। अधिकारियों के मुताबिक यह घटना बुधवार रात टुपुल यार्ड रेलवे निर्माण शिविर में हुई है। जिसमे से 7 लोगों के शवों को निकाल लिया गया है और करीब 50 लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है। बचाव अभियान जारी है। 

गृहमंत्री अमित शाह ने मणिपुर सीएम से फ़ोन पर ली जानकर

मणिपुर के नोनी में भूस्खलन को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट किया, “मणिपुर में तुपुल रेलवे स्टेशन के पास भूस्खलन के मद्देनजर मणिपुर के सीएम एन बीरेन सिंह और केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव से बात की। बचाव कार्य जोरों पर है। एनडीआरएफ की एक टीम मौके पर पहुंच गई और बचाव कार्यों में शामिल हो गई। 2 अतिरिक्त टीमें टुपुल पहुंच रही हैं।”

https://twitter.com/R_HLata/status/1542466467169333248?t=46IbvP8JtZ2jdnBS5pvy7A&s=19

https://twitter.com/ANI/status/1542429022251917314?t=cC5NTZnjWspXo5LKoCpU1w&s=19

(Visited 20 times, 1 visits today)