प्रदेशभर में बारिश के चलते 181 सड़क मार्ग अवरुद्ध, यात्री परेशान

देहरादून- उत्तराखंड में भारी बारिश के चलते कई जगह सड़क मार्ग अवरुद्ध हो गया है। बद्रीनाथ नेशनल हाईवे सिरोबगड़ के पास पिछले 30 घंटों से बंद पड़ा। वहीं पूरे प्रदेश की बात करें तो अभी तक लगभग 181 सड़कें बारिश कारण बंद हो गयी हैं। जिससे आने-जाने वाले लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। सड़क मार्ग जगह-जगह अवरुद्ध होने से जाम की स्थिति पैदा हो गयी है।

प्रदेशभर में 289 जेसीबी मशीनें तैनात

गुरुवार को उत्तराखंड में कई स्थानों पर भारी बारिश के कारण सड़क मार्ग में पत्थर और मालवा आने के कारण लगभग 181 सड़के बंद हो गयी हैं। बारिश के कारण एक नेशनल हाईवे, 22 स्टेट हाईवे और लगभग 8 मुख्य मार्ग पूरी तरह से बंद हैं। साथ ही सम्पर्क मार्ग भी बाधित हैं। इस पर प्रशासन का कहना है कि इन सभी मार्गों को खोलने के लिए प्रदेश भर में 289 जेसीबी मशीनों को तैनात किया गया है।जो निरंतर अवरुद्ध सड़कों से मालवा व पत्थर हटाने में लगे हैं ताकि लोगों को जाम की स्थिति से निजात मिल सके।आपको बता दें कि एनएच 58 कल्यासौड़ से खांकरा के बीच सिरोबगड़ में कल से बंद है।

मुख्य मार्ग बंद,आवाजाही के वैकल्पिक मार्ग बने सहारा

प्रशासन यात्रा मार्गों के बंद होने की स्थिति में यात्रा मार्ग के रूप में वैक्लपिक मार्गों का उपयोग कर रहा है। इसके अलावा बैंड मार्गो की बात करें तो थराली – वाण मोटर मार्ग, ग्वाल्मद – नंद केशरी, आदिबद्री- नौटी, खिर्स् – खांकरा, मयाली- गुप्तकाशी, गुप्तकाशी कालीमठ- चौमासी, बांसवाड़ा – मोहनखाल, मक्कू भीटी, घट्टूघाट- बीटोंखाल, कर्णप्रयाग- नौटी, नरेंद्रनगर – रानीपोखरी मार्ग और लोहाघाट सिमलखेत मार्ग बंद हो गए हैं।

पिथौरागढ़ में भारी बारिश के चलते काली गंगा उफान पर

इसी क्रम में कुमाऊं मंडल की बात करें तो लगातार हो रही बारिश के चलते पिथौरागढ़ में काली गंगा नदी उफान पर है। इसके अलावा ग्राम खुमती कालिका गाड़ में बारिश के कारण चार स्थाई लकड़ी के पुल बह गए हैं। और पिछले 3 दिन से कलिका खुमती सड़क भी बंद हो रखी है । सड़क और पुल टूटने के कारण यहां के लोगों को जान जोखिम में डालकर बारिश के मौसम में अपने जरूरी कामों को पूरा करने के लिए 15 से 20 किलोमीटर पैदल यात्रा तक करनी पड़ रही है।

(Visited 20 times, 1 visits today)