अब घर बैठे वाहन चोरी और गुमशुदा वस्तुओं की ई -एफआईआर होगी दर्ज


देहरादून- अब आप घर बैठे वाहन चोरी और गुमशुदा वस्तुओं के सम्बंध में ई-एफआईआर दर्ज करा सकेंगे। आज मुख्यमंत्री धामी द्वारा “उत्तराखण्ड पुलिस एप्प” का विधिवत उद्धाटन किया गया। जिसके बाद आम जनता थाने चौकी के चक्कर लगाए बिना अपनी शिकायत ई -एफआईआर के माध्यम से दर्ज करवा सकती है। साथ ही “उत्तराखंड पुलिस एप्प” के अंतर्गत राज्य में पुलिस द्वारा संचालित सभी ऑनलाइन सुविधाओं की जानकारी भी प्राप्त कर सकेंगे।

शुक्रवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के सरलीकरण, समाधान, निस्तारण और संतुष्टि के मूल मंत्र के क्रम में उत्तराखण्ड पुलिस द्वारा प्रदेश की जनता को ई -एफआईआर की सौगाद दी है। अब आम जन घर बैठे ही अपने वाहन चोरी और गुमशुदा वस्तुओं के संबंध में ई-एफआईआर दर्ज करवा सकता है। इस सुविधा के बाद जहाँ एक ओर जनता को थाने चौकी के चक्करों से निजात मिलेगी। वहीं पुलिस भी प्राप्त सूचनाओं पर तुरंत एक्सन ले सकेंगे।

“उत्तराखण्ड पुलिस एप्प” पर मिलेगी सारी जानकारी

इसके अलावा आज मुख्यमंत्री धामी द्वारा “उत्तराखण्ड पुलिस एप्प” की विधिवत शुरुआत की गई। जिसके बाद उत्तराखण्ड पुलिस द्वारा आम-जनता के लिए चलाई जा रही सभी ऑनलाईन एप्प की सुविधाओं को एक साथ एकीकरण कर दिया गया है। अब “उत्तराखंड पुलिस एप्प” के माध्यम से आम जनता पुलिस की गौरा शाक्ति (महिलाओं की सुरक्षा हेतु), ट्रैफिक आई (यातायात नियमों के उल्लघंन की जानकारी देने हेतु), पब्लिक आई (नियमों के उल्लंघन और अपराध से सम्बन्धित जानकारी देने हेतु), मेरी यात्रा (उत्तराखण्ड चार धाम और पर्यटन से सम्बन्धित जानकारी हेतु), लक्ष्य नशा मुक्त उत्तराखण्ड (नशे से बचाव व उससे सम्बधित जानकारी) एक साथ प्राप्त कर सकेंगे।

आपको बता दें कि इन सभी एप्प की सुविधाएं अब “उत्तराखण्ड पुलिस एप्प” पर आसानी से मिल जाएगी। इसके अलावा “उत्तराखण्ड पुलिस एप्प” में इमेरजेन्सी नम्बर डायल 112 व साइबर फ्रॉड की शिकायत दर्ज करने हेतु साइबर हैल्प लाईन नम्बर 1930 को भी जोडा गया है।

(Visited 14 times, 1 visits today)