भूधंसाव प्रकरण में सरलीकरण तथा त्वरित कार्रवाई होना चाहिए हमारा मूलमंत्र- सीएम पुष्कर सिंह धामी

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय में जोशीमठ कस्बे में भू-धंसाव से प्रभावित परिवारों के पुनर्वास की व्यवस्था आदि के संबंध में उच्चाधिकारियों के साथ समीक्षा की। उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जोशीमठ प्रकरण सम्बन्धित विस्तृत जानकारी भी प्राप्त की।

मुख्यमंत्री ने प्रभावित परिवारों के रहने की वैकल्पिक व्यवस्था करने के निर्देश देते हुए कहा कि ऐसे समय में लोगों की मदद करना हम सबकी जिम्मेदारी है। प्रशासनिक मशीनरी को संवेदनशीलता से काम करते हुए स्थिति की मॉनिटरिंग करनी होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि तात्कालिक एक्शन प्लान के साथ ही दीर्घकालीन कार्यों में भी लंबी प्रक्रिया को समाप्त करना होगा। डेंजर जोन के ट्रीटमेंट, सीवर व ड्रेनेज जैसे कार्य को जल्द से जल्द पूरा किया जाए, इसमें सरलीकरण तथा त्वरित कार्रवाई हमारा मूलमंत्र होना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जोशीमठ मामले पर जल्द से जल्द कार्य योजना बिल्कुल तय होनी चाहिए। हमारे लिए नागरिकों का जीवन सबसे अमूल्य है। उन्होंने सचिव आपदा प्रबंधन, गढ़वाल आयुक्त और जिलाधिकारी से विस्तृत रिपोर्ट प्राप्त करते हुए एयर लिफ्ट की सुविधा हेतु भी तैयारी के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने सुरक्षित स्थान पर तत्काल अस्थायी पुनर्वास केंद्र बनाए जाने, डेंज़र ज़ोन को तत्काल खाली करवाने के साथ ही प्रशासन को स्थाई पुनर्वास के लिए पीपलकोटी और गौचर सहित अन्य स्थानों पर सुरक्षित जगह तलाशने के भी निर्देश दिए।

बैठक में ACS राधा रतूड़ी, DGP अशोक कुमार ,IPS सचिव शैलेश बगौली, सचिव कुर्वे, दिलीप जावलकर, IG uksdrf रिद्विम अग्रवाल आदि के साथ ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

(Visited 14 times, 1 visits today)