मौसम के पूर्वानुमान को देखकर ही यात्रा के लिए निकलें श्रद्धालु – सीएम धामी


चारधाम यात्रा 2 दिन के लिए स्थगित


सोमवार को सीएम धामी ने मुख्यमंत्री आवास में आयोजित बैठक में उच्चाधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में अतिवृष्टि के कारण काफी नुकसान हो रहा है जिसको ध्यान में रखते हुए सभी को अलर्ट मोड पर रहने की जरूरत है|
साथ ही मुख्यमंत्री धामी ने बैठक के दौरान अधिकारियों से अतिवृष्टि से प्रभावित क्षेत्रों की स्थिति, बचाव एवं राहत कार्यों की भी जानकारी ली | मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को घायलों को शीघ्र उचित उपचार दिलवाने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि यह सुनिश्चित किया जाय कि अतिवृष्टि से प्रदेश में जहां भी नुकसान हो रहा है, प्रभावितों को मानकों के अनुसार मुआवजा राशि यथाशीघ्र मिल जाय। उन्होंने कहा कि अतिवृष्टि से प्रदेश में हुई क्षति का पूरा आंकलन किया जाए।

मुख्यमंत्री जिलाधिकारियों से भी अतिवृष्टि के कारण हुए नुकसान एवं राहत एवं बचाव कार्यों की तैयारी के संबंध में लगातार जानकारी ले रहे हैं। उन्होंने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि जिला प्रशासन एवं राहत-बचाव में लगे सभी दलों को 24 घंटे अलर्ट मोड पर रखा जाए।

आपको बता दें कि अतिवृष्टि को ध्यान में रखते हुए चारधाम यात्रा को 2 दिनों के लिए स्थगित कर दिया गया है। मुख्यमंत्री ने चारधाम यात्रा में आने वाले सभी श्रद्धालुओं से अपील की है कि सभी मौसम के पूर्वानुमान को देखकर ही यात्रा के लिए घर से निकलें |
इस मौके पर सीएम ने पौड़ी जिले में अतिवृष्टि के कारण अपनी जान गवा बैठे लोगों की आत्मा की शांति की कामना की, साथ ही शोकाकुल परिवारजनों को धैर्य प्रदान करने की ईश्वर से कामना की है। आपको बता दें कि जिला प्रशासन और एसडीआरएफ की टीमें अभी भी राहत एवं बचाव कार्य में लगी हुई हैं।
मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को निर्देशित किया कि घायलों को जल्द से जल्द उचित उपचार उपलब्ध करवाया जाए| इसके अलावा
उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि प्रदेश में अतिवृष्टि से जहां भी नुकसान हो रहा है, वहाँ मानक के अनुसार प्रभावितों को मुआवजा राशि यथाशीघ्र मिल जाए | साथ ही प्रदेश में अतिवृष्टि से हुई क्षति का पूरा आंकलन भी किया जाए।

 

मुख्यमंत्री जिलाधिकारियों से भी अतिवृष्टि के कारण हुए नुकसान एवं राहत एवं बचाव कार्यों की तैयारी के संबंध में लगातार जानकारी ले रहे हैं। उन्होंने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि जिला प्रशासन एवं राहत-बचाव में लगे सभी दलों को 24 घंटे अलर्ट मोड पर रखा जाए।

बैठक में अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, विशेष प्रमुख सचिव अभिनव कुमार, सचिव आर. मीनाक्षी सुंदरम, शैलेश बगोली, डॉ रंजीत सिन्हा, एडीजी ए.पी.अंशुमान, महानिदेशक सूचना बंशीधर तिवारी एवं अपर सचिव जगदीश चन्द्र काण्डपाल उपस्थित थे।

(Visited 29 times, 1 visits today)