विदेशी षड्यंत्र और गलतफहमियों के कारण हुई मणिपुर में हिंसा हुई – मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह

पीटीआई। मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह ने कहा कि कुछ गलतफहमियों और देश को अस्थिर करने के विदेशी षड्यंत्र के कारण मणिपुर में हिंसा हुई। मुख्यमंत्री ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मणिपुर राइफल्स परेड ग्राउंड में राष्ट्रीय ध्वज फहराने के बाद सभी से हिंसा रोकने और पहले की तरह शांति से रहने की अपील की।

क्या होते हैं पूर्वनिर्मित मकान?

पूर्वनिर्मित (प्रीफैबरिकेटेड) मकानों से तात्पर्य ऐसे भवनों से हैं, जिनके ढांचे किसी और स्थान पर तैयार किए जाते हैं और फिर उन्हें उन स्थलों पर स्थापित किया जाता है, जहां मकानों को बनाए जाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि मादक पदार्थों के खिलाफ युद्ध किसी विशेष समुदाय या व्यक्ति पर लक्षित नहीं है, बल्कि यह देश और भावी पीढ़ी को नशीली पदार्थों के दुरुपयोग के खतरे से बचाने का सरकार का प्रयास है।

विस्थापितों के लिए 3,000 पूर्वर्निमित मकान बना रही सरकार

मणिपुर हिंसा के कारण विस्थापित हुए 3,000 परिवारों को आश्रय देने के लिए राज्य सरकार पूर्वनिर्मित मकान बनाने के लिए काम कर रही है। एक अधिकारी ने कहा, पांच अलग-अलग स्थानों पर 26 जून से निर्माण कार्य शुरू हुआ है। इंफाल पूर्व जिले में सजीवा जेल के पास बनाए जा रहे दो सौ मकानों का निर्माण कार्य जल्द पूरा होने का जिक्र करते हुए अधिकारी ने बताया कि प्रत्येक घर में दो कमरे, शौचालय और सामान्य रसोई होगी।

पूर्वनिर्मित मकानों को किया जा रहा तैयार

बता दें कि इन मकानों को पूरा करने की समय-सीमा 20 अगस्त है। थौबल जिले में 400 परिवारों के लिए भी पूर्वनिर्मित मकान बनाए जा रहे हैं। बिष्णुपुर जिले में 120 पूर्वनिर्मित मकानों को तैयार किया जा रहा है। इंफाल पश्चिम जिले के सेकमई और इंफाल पूर्व के सवोम्बुंग में भी इसी तरह के मकान बनाए जा रहे हैं।

(Visited 17 times, 1 visits today)