राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु भारत मंडपम पहुंचीं, जी-20 रात्रिभोज की करेंगी मेजबानी

एजेंसी।  आज से राजधानी दिल्ली में जी- 20 शिखर सम्मलेन की शुरुआत हो चुकी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने G20 की शुरुआत होने से पहले मोरक्को में आए भूकंप में हुई कई लोगों की मृत्यु पर शोक व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि भारत हर संभव मदद करने के लिए तैयार है।

बता दें कि 10 सितंबर तक चलने वाले इस समिट के लिए दिल्ली पूरी तरह से तैयार है। दिल्ली को दुल्हन की तरह सजाया गया है और सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। मेहमानों के स्वागत और उनकी सुरक्षा के लिए व्यवस्थाएं की गई हैं। इस खास सम्मेलन के दौरान दुनियाभर की नजरें भारत की ओर रहेंगी।

वहीं, G20 शिखर सम्मेलन की शुरुआत से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते गुरुवार (8 सितंबर) को भी विभिन्न देशों के जनप्रतिनिधियों के साथ द्विपक्षीय बैठक की थी। PM मोदी ने बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन, मॉरीशस के पीएम प्रविंद कुमार जुगनाथ के साथ द्विपक्षीय वार्ता में शामिल हुए। 

विदेशी मेहमानों के लिए रात्रिभोज का मेन्यू आया सामने

वसुधैव कुटुंबकम की भावना के साथ प्रगति मैदान स्थित भारत मंडपम में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने विदेशी मेहमानों को रात्रि भोज के लिए आमंत्रित किया है। रात्रिभोज का मेन्यू भी सामने आ गया है। इसमें श्रीअन्न से बने व्यंजन भी शामिल किए गए हैं। भोज पूरी तरह से शुद्ध शाकाहारी है। मेन्यू कार्ड में शरद ऋतु के व्यंजनों को शामिल किया गया है।

अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन ने पीएम मोदी के साथ शेयर की तस्वीर

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर पीएम मोदी के साथ जी-20 के दौरान ली गई एक तस्वीर शेयर की है। उन्होंने पीएम मोदी के साथ अपनी तस्वीर शेयर करते हुए लिखा, “भारत में दूसरे उपयोगी दिन के लिए तैयार प्रधानमंत्री।”

रात्रिभोज के लिए भारत मंडपम पहुंचे वैश्विक नेता

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु द्वारा आयोजित जी-20 रात्रिभोज के लिए दिल्ली के भारत मंडपम में वैश्विक नेताओं के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया है। राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मु और पीएम मोदी ने अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष की प्रबंध निदेशक क्रिस्टालिना जॉर्जीव, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टेड्रोस एडनोम, आर्थिक सहयोग और विकास संगठन (OECD) के महासचिव माथियास कॉर्मन, विश्व बैंक के अध्यक्ष अजय बंगा, सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सीन लूंग, बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना, नीदरलैंड के प्रधानमंत्री मार्क रूट समेत कई नेताओं का स्वागत किया।

भारत मंडपम पहुंचीं राष्ट्रपति मुर्मु

G-20 रात्रिभोज की मेजबानी के लिए राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु भारत मंडपम पहुंचीं। इस दौरान वह पीएम मोदी से मुलाकात कीं।

पीएम मोदी ने इटली की प्रधानमंत्री के साथ की द्विपक्षीय बैठक

PM मोदी ने इटली की पीएम जियोर्जिया मेलोनी के साथ दिल्ली में जी20 शिखर सम्मेलन से अलग द्विपक्षीय बैठक की।

आर्थिक कॉरिडोर से पूरे विश्व में होगी टिकाऊ कनेक्टिविटिः पीएम मोदी

भारत-मध्य पूर्व-यूरोप आर्थिक कॉरिडोर और वैश्विक बुनियादी ढांचे और निवेश के लिए साझेदारी कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मेरे मित्र राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ मुझे इस आयोजन की अध्यक्षता करते हुए बहुत खुशी हो रही है। आज हम सबने एक महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक समझौता संपन्न होते हुए देखा है। आने वाले समय में भारत पश्चिम एशिया और यूरोप के बीच आर्थिक एकीकरण का प्रभावी माध्यम होगा। ये पूरे विश्व में कनेक्टिविटी और विकास को टिकाऊ दिशा प्रदान करेगा।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने पीएम मोदी को कहा धन्यवाद

जी-20 शिखर सम्मेलन में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने भारत मध्य पूर्व यूरोप कनेक्टिविटी कॉरिडोर पर कहा कि यह वास्तव में बहुत ही बड़ी बात है। उन्होंने पीएम मोदी को धन्यवाद देते हुए कहा कि वन अर्थ, वन फैमिली, वन फ्यूचर यही G-20 शिखर सम्मेलन का फोकस है। और कई मायनों में यह इस साझेदारी का फोकस भी है जिसके बारे में हम आज बात कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कुछ माह पहले घोषणा की गई थी कि अमेरिका आर्थिक गलियारों में निवेश करने के लिए सभी भागीदारों के साथ काम करेगा।

भारत मध्य पूर्व यूरोप कनेक्टिविटी कॉरिडोर जल्द होगा लॉन्च

भारत मध्य पूर्व यूरोप कनेक्टिविटी कॉरिडोर जल्द ही लॉन्च किया जाएगा। यह कॉरिडोर भारत, यूएई, सऊदी अरब, EU, फ्रांस, इटली, जर्मनी और अमेरिका को शामिल करते हुए कनेक्टिविटी और बुनियादी ढांचे को लेकर सहयोग पर एक पहल होगी।

पीएम मोदी ने ग्लोबल बायोफ्यूल्स अलायंस को किया लॉन्च

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान ग्लोबल बायोफ्यूल्स अलायंस लॉन्च किया। इस दौरान उनके साथ अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन, ब्राजील के राष्ट्रपति लुइज इनासियो, अर्जेंटीना के राष्ट्रपति अल्बर्टो फर्नांडीज और इटली की प्रधानमंत्री जियोर्जिया मेलोनी मौजूद रहे।

बहुपक्षीय विकास बैंक की आवश्यकता पर बनी सहमतिः निर्मला सीतारमण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि बेहतर, बड़े और अधिक प्रभावी बहुपक्षीय विकास बैंक (MDB) की आवश्यकता पर सहमति व्यक्त की गई। बेहतर बड़े और अधिक प्रभावी एमडीबी का होना बेहद जरूरी है क्योंकि दुनिया भर से विकासात्मक मांगें बहुत बढ़ रही हैं, इसलिए इन संस्थानों को बेहतर और बड़ा बनाना होगा। उन्होंने कहा कि बहुपक्षीय विकास बैंक के पूंजी पर्याप्तता ढांचे पर एक स्वतंत्र पैनल की सिफारिशों के कार्यान्वयन के लिए जी-20 रोडमैप का समर्थन किया गया। निर्मला सीतारमण ने कहा कि रोडमैप का अनुमान है कि सीएएफ और इसके उपायों के कार्यान्वयन से संभावित रूप से अगले दशक में लगभग 200 बिलियन अमरीकी डॉलर की अतिरिक्त ऋण देने की गुंजाइश पैदा होगी।

जी-20 के नेताओं ने की आतंकवाद के सभी रूपों की निंदाः जयशंकर

विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर ने कहा कि जी-20 के नेताओं ने आतंकवाद के सभी रूपों और अभिव्यक्तियों की निंदा की है और माना कि यह अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए सबसे गंभीर खतरों में से एक है।  काला सागर अनाज गलियारे पर उन्होंने कहा कि इस बारे में कई प्रकार की चर्चाएं चल रही हैं। रूस के विदेश मंत्री, तुर्किये के राष्ट्रपति और उनका प्रतिनिधिमंडल, संयुक्त राष्ट्र महासचिव और कई लोग यहां पर मौजूद हैं।

भारत ने चुनौतीपूर्ण समय में ग्रहण की है जी-20 की अध्यक्षता

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि भारत ने भू-राजनीतिक तनाव के चुनौतीपूर्ण समय में जी-20 की अध्यक्षता ग्रहण की है। उन्होंने कहा कि डिजिटल पब्लिक इंफ्रास्ट्रक्चर (DPI) को भी वित्तीय समावेशन कार्य योजना (FIAP) में भी एकीकृत किया गया है, जो साल 2024 और 2026 के बीच चलेगा।  

वन अर्थ, वन फैमिली, वन फ्यूचर है जी-20 का संदेशः विदेश मंत्री जयशंकर

दिल्ली में हो रहे जी-20 शिखर सम्मेलन पर बोलते हुए विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि आज अफ्रीकन यूनियन को भारत की अध्यक्षता में इस समूह की स्थायी सदस्यता दी गई है। उन्होंने कहा, “हमारी अध्यक्षता का संदेश वन अर्थ, वन फैमिली, वन फ्यूचर है। भारत की अध्यक्षता में आयोजित जी-20 में 20 सदस्य देशों 9 आमंत्रित देशों और 14 अंतर्राष्ट्रीय संस्थाओं ने हिस्सा लिया है।

बाइडन ने PM शेख हसीना के साथ ली सेल्फी

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन और बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने दिल्ली में जी 20 शिखर सम्मेलन के आयोजन स्थल पर सेल्फी ली। 

मोदी के नेतृत्व का प्रदर्शन आज दुनिया में हो रहा- शेरपा

जी 20 शेरपा अमिताभ कांत ने ट्वीट किया, “सभी विकासात्मक और भू-राजनीतिक मुद्दों पर 100% सर्वसम्मति के साथ ऐतिहासिक और पथप्रदर्शक जी 20 की घोषणा हुई। नए भू-राजनीतिक पैरा आज की दुनिया में ग्रह, लोगों, शांति और समृद्धि के लिए एक शक्तिशाली आह्वान है। जो आज की दुनिया में पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व को प्रदर्शित करता है।

G-20 के इतिहास में भारत की जी20 अध्यक्षता अधिक महत्वाकांक्षी

भारत की G20 अध्यक्षता G-20 के इतिहास में सबसे महत्वाकांक्षी रही है। 73 परिणाम (प्रयास की पंक्तियाँ) और 39 संलग्न दस्तावेज़ (राष्ट्रपति दस्तावेज़, कार्य समूह के परिणाम दस्तावेज़ शामिल नहीं) 112 परिणामों और प्रेसीडेंसी दस्तावेज़ों के साथ, हमने पिछले प्रेसीडेंसी की तुलना में मूल कार्य को दोगुने से भी अधिक कर दिया है।

भारतीय राष्ट्रपति ने अफ्रीकी संघ को G20 में शामिल कर बड़ा कदम उठाया- अर्जेंटीन के राष्ट्रपति

अर्जेंटीना के राष्ट्रपति, अल्बर्टो फर्नांडीज ने कहा, “मुझे लगता है कि भारतीय राष्ट्रपति ने अफ्रीकी संघ को G20 में शामिल करके एक बड़ा कदम उठाया है। मैंने प्रस्ताव दिया है कि उस निर्णय के आधार पर, G20 को लैटिन अमेरिकी और कैरेबियाई राज्यों के समुदाय को शामिल करना चाहिए जो अफ़्रीकी संघ जैसी ही स्थिति से गुज़रता है।”

G20 नेताओं के शिखर सम्मेलन घोषणा पर बनी आम सहमति- PM

पीएम नरेंद्र मोदी ने G20 के दूसरे सत्र में अपने संबोधन में कहा, मुझे अच्छी खबर मिली है। हमारी टीम की कड़ी मेहनत के कारण नई दिल्ली G20 नेताओं के शिखर सम्मेलन घोषणा पर आम सहमति बन गई है। मेरा प्रस्ताव इस घोषणा को अपनाने का है और मैं इस घोषणा को अपनाने की घोषणा करता हूं। इस अवसर पर, मैं अपने शेरपा, मंत्रियों को बधाई देता हूं, जिन्होंने इसके लिए कड़ी मेहनत की और इसे संभव बनाया…

 

(Visited 50 times, 2 visits today)

One thought on “राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु भारत मंडपम पहुंचीं, जी-20 रात्रिभोज की करेंगी मेजबानी

Comments are closed.