पीएम मोदी ने कहा “भारत-कनाडा के संबंधों में प्रगति के लिए आपसी आदर और विश्वास होना जरूरी”

पीटीआई। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को द्विपक्षीय वार्ता में कनाडाई पीएम जस्टिन ट्रूडो से कनाडा में खालिस्तान समर्थकों की जारी भारत विरोधी गतिविधियों पर गहरी चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि कनाडा में कट्टरपंथी तत्व अलगाववाद को बढ़ावा दे रहे हैं। कूटनीतिज्ञों के खिलाफ हिंसा भड़का रहे हैं और वहां पर रह रहे भारतीय समुदाय को धमका रहे हैं।

भारत-कनाडा के संबंधों पर पीएम मोदी ने क्या कहा?

विदेश मंत्रालय के अनुसार, जी-20 सम्मेलन से इतर हुई द्विपक्षीय वार्ता में पीएम मोदी ने ट्रूडो से यह भी कहा कि भारत-कनाडा के संबंधों में प्रगति के लिए आपसी आदर और विश्वास होना जरूरी है। प्रधानमंत्री मोदी ने इस बात पर बल देकर कहा कि भारत और कनाडा के संबंध लोकतांत्रिक मूल्यों, कानून के शासन के प्रति आदर और दोनों देशों के लोगों के बीच मजबूत संबंधों पर केंद्रित हैं।

कनाडा में अलगाववादी तत्वों पर पीएम मोदी ने जताई चिंता

पीएम मोदी ने कनाडा में अलगाववादी तत्वों की भारत विरोधी गतिविधियों कड़ी चिंता जाहिर करते हुए कहा कि यह लोग कनाडा में अलगाववाद को बढ़ावा दे रहे हैं। भारतीय कूटनीतिज्ञों के खिलाफ हिंसा भड़का रहे हैं और वहां मौजूद भारतीय समुदाय को धमका रहे हैं। साथ ही उनके पूजास्थलों को तहस-नहस कर रहे हैं।

भारत-कनाडा संबंधों पर हुई बातचीतः पीए मोदी

मंत्रालय ने अपने जारी बयान में कहा कि ऐसी अलगाववादी ताकतों का संगठित अपराध, ड्रग सिंडीकेट और मानव तस्करी आदि से साठगांठ होने से यह मुद्दा कनाडा के लिए भी चिंता का विषय होना चाहिए। इसलिए यह जरूरी है कि दोनों देश ऐसे खतरों से निपटने में सहयोग करें। पीएम मोदी ने एक्स पर पोस्ट जारी करके कहा कि ट्रूडो के साथ विभिन्न क्षेत्रों में भारत-कनाडा के संबंधों पर बात की है।

खालिस्तानी उग्रवाद के मुद्दे पर पीएम मोदी से हुई बातचीतः ट्रूडो

इस बीच कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि खालिस्तानी उग्रवाद के मुद्दे पर उनकी कई बार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से बात हुई है। कनाडा हमेशा शांतिपूर्ण प्रदर्शनों का पक्ष लेता रहेगा लेकिन वह हिंसा नहीं होने देगा और नफरत भड़काने की कोशिशों को नाकाम करेगा।

अभिव्यक्ति की आजादी पर क्या बोले जस्टिन ट्रूडो?

टूड्रो ने कहा कि कनाडा अभिव्यक्ति की आजादी का हमेशा बचाव करेगा। हमारे लिए शांतिपूर्ण प्रदर्शन की आजादी बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों की हरकत पूरे समुदाय या कनाडा का प्रतिनिधित्व नहीं करती है। उन्होंने कहा कि भारत विश्व की अत्यधिक महत्वपूर्ण अर्थव्यवस्था है।

भारत विकास के लिए पर्यावरण परिवर्तन से लड़ने और जनता को समृद्ध बनाने की दिशा में उसका महत्वपूर्ण साझीदार है। दोनों देश मौजूदा सहयोग को बढ़ाने की दिशा में काम करेंगे।

(Visited 26 times, 1 visits today)