भारत-कनाडा विवाद को लेकर कांग्रेस और भाजपा का दिखा एक रुख, सत्ता पक्ष-विपक्ष ने देशहित को बताया सर्वोपरि 

पीटीआई। खालिस्तानी अलगाववादी नेता हरदीप सिंह निज्जर की हत्या को लेकर भारत-कनाडा के विवाद के बीच कांग्रेस और भाजपा का मंगलवार को एक रुख दिखा। सत्ता पक्ष-विपक्ष दोनों ने देशहित को सर्वोपरि बताया और कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई से कोई समझौता नहीं हो सकता।

भाजपा ने कनाडा के आरोपों को किया खारिज

भाजपा ने कनाडा में खालिस्तानी आतंकवादी की हत्या को लेकर भारत के खिलाफ प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के आरोपों को निराधार और विडंबनापूर्ण करार दिया। भाजपा ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कनाडा की कुछ राजनीतिक हस्तियों ने भारत विरोधी गतिविधियों में शामिल समूहों और व्यक्तियों के प्रति खुलेआम सहानुभूति व्यक्त की है।

यह भी पढ़ें – लोकसभा में केंद्र सरकार ने राजनीति में महिला आरक्षण पर “नारी शक्ति वंदन अधिनियम” किया पेश

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव तरुण चुघ ने कहा, कनाडा को अपनी धरती पर सक्रिय सभी भारत विरोधी तत्वों के खिलाफ तत्काल प्रभावी कार्रवाई करनी चाहिए। कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने कहा है कि देश के हितों और चिंताओं को हर वक्त सबसे ऊपर रखा जाना चाहिए।

जयराम रमेश ने एक्स पर एक पोस्ट में कहा

कांग्रेस का हमेशा मानना रहा है कि आतंकवाद के खिलाफ हमारे देश की लड़ाई समझौतारहित होनी चाहिए, खासकर जब आतंकवाद भारत की संप्रभुता, एकता और अखंडता के लिए खतरा हो।

यह भी पढ़ें – सुप्रीम कोर्ट ने नर्सरी दाखिले के लिए बच्चों की स्क्रीनिंग पर प्रतिबंध लगाने के मामले में दिल्ली हाई कोर्ट के आदेश को दी चुनौती

जून में हुई थी निज्जर की हत्या

बता दें कि खालिस्तान टाइगर फोर्स (केटीएफ) के प्रमुख व भारत के सर्वाधिक वांछित आतंकियों में से एक निज्जर की पश्चिमी कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया प्रांत के सरे में एक गुरुद्वारे के बाहर 18 जून को दो अज्ञात बंदूकधारियों ने गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। बीते रोज कनाडा के पीएम ट्रूडो ने वहां की संसद में आरोप लगाया था कि निज्जर की हत्या के पीछे भारतीय एजेंसियों का हाथ है।

(Visited 72 times, 1 visits today)

One thought on “भारत-कनाडा विवाद को लेकर कांग्रेस और भाजपा का दिखा एक रुख, सत्ता पक्ष-विपक्ष ने देशहित को बताया सर्वोपरि 

Comments are closed.