महात्मा गाँधी ने अपने जीवन में सामाजिक भेदभाव और अशिक्षा के खिलाफ भी लड़ी लड़ाई -राष्ट्रपति मुर्मु

एएनआई। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने रविवार को गांधी जयंती  की पूर्व संध्या पर सभी देशवासियों को शुभकामनाएं दीं। महात्मा गांधी की 154वीं जयंती के अवसर पर राष्ट्र के नाम अपने संदेश में उन्होंने कहा मैं सभी नागरिकों की ओर से राष्ट्रपिता को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करती हूं। राष्ट्रपति मुर्मु ने इस दौरान सभी देशवासियों से अपने विचारों, भाषण और कार्यों में महात्मा गांधी के मूल्यों और शिक्षाओं का पालन करने एवं कल्याण के लिए खुद को समर्पित करने की भी अपील कीं। उन्होंने आगे कहा कि अपने जीवन में उन्होंने सामाजिक भेदभाव और अशिक्षा के खिलाफ भी लड़ाई लड़ी।

राष्ट्रपिता ने जीवन भर लड़ी अहिंसा की लड़ाई

राष्ट्र के नाम संदेश में उन्होंने कहा कि गांधीजी के सत्य और अहिंसा के आदर्शों ने दुनिया के लिए एक नया रास्ता दिखाया है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपिता अपने जीवन भर अहिंसा के लिए लड़ाई लड़ने के साथ-साथ स्वच्छता, महिला सशक्तिकरण, आत्मनिर्भरता और किसानों के अधिकारों का भी मुद्दा उठाया। 

यह भी पढ़ें – मणिपुर में दो छात्रों की हत्या मामले में CBI ने चार आरोपितों को किया गिरफ्तार

गांधीजी ने स्वतंत्रता संग्राम में भाग लेने के लिए किया प्रेरित

देश के नाम अपने संदेश में राष्ट्रपति ने कहा कि गांधीजी ने हमें स्वतंत्रता संग्राम में भाग लेने के लिए प्रेरित किया और एक विशाल आंदोलन का नेतृत्व किया। इसी आंदोलन ने इतिहास की दिशा बदल दी और हमें आजादी मिली।

राष्ट्रपिता के विचारों से प्रभावित थे दुनिया के कई नेता

उन्होंने कहा कि गांधीजी के विचारों से दुनिया के कई नेता प्रभावित थे। उन्होंने कहा, मार्टिन लूथर किंग जूनियर, नेल्सन मंडेला, बराक ओबामा और दुनिया के कई अन्य राजनेता गांधीजी के विचारों से प्रभावित थे। गांधीजी की मजबूत और जीवंत विचारधारा दुनिया के लिए हमेशा प्रासंगिक रहेगी।

देश के कल्याण के लिए खुद को समर्पित करने का लें संकल्पः राष्ट्रपति

राष्ट्रपति मुर्मु ने अपने संदेश में लोगों से उनके विचारों पर एक बार फिर से चलने की अपील करते हुए कहा कि आइए गांधी जयंती के शुभ अवसर पर हम सब एक बार फिर से देश के कल्याण के लिए खुद को समर्पित करने का संकल्प लें और राष्ट्रपिता के मूल्यों को अपने विचार, भाषण और कार्यों में शामिल करें।

(Visited 46 times, 1 visits today)

One thought on “महात्मा गाँधी ने अपने जीवन में सामाजिक भेदभाव और अशिक्षा के खिलाफ भी लड़ी लड़ाई -राष्ट्रपति मुर्मु

Comments are closed.