“केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर प्रहार करते हुए कहा -वह अपनी पार्टी के राजनीतिक आका हैं”

पीटीआई। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर प्रहार करते हुए कहा कि वह अपनी पार्टी के राजनीतिक आका हैं। वह अपने अहंकार के कारण ही अमेठी में हार गए। यह वह सीट थी जो पिछले चार दशकों से उनके परिवार का गढ़ थी।

राहुल गांधी कांग्रेस पार्टी के राजनीतिक आकाः केंद्रीय मंत्री

महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने एक ‘न्यूज कानक्लेव’ में कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर यह वही विपक्षी गठबंधन है जिससे उन्होंने 2019 में उन्होंने मुकाबला किया था जब राहुल गांधी को हराया था। ईरानी ने यह जवाब तब दिया जब उनसे पूछा गया कि भाजपा केरल में एक भी सीट जीतने में क्यों अक्षम है और सीट जीतने के लिए क्या वह राहुल गांधी से यहां मुकाबला करेंगी?

यह भी पढ़ें – “सीबीआई द्वारा ‘ऑपरेशन चक्र-2’ के तहत साइबर क्राइम पर बढ़ाई सुरक्षा, 76 जगहों पर छापेमारी की गई”

स्मृति ईरानी ने आगे कहा कि राहुल गांधी कांग्रेस पार्टी के राजनीतिक आका हैं और वह भाजपा की एक राजनीतिक कार्यकर्ता हैं। एक राजनीतिक आका होने और एक कार्यकर्ता होने में बहुत बड़ा राजनीतिक अंतर है। मेरे विचार से यह अहंकार ही है जिसने कांग्रेस पार्टी की हार अमेठी लोकसभा सीट से सुनिश्चित की जहां से वह पिछले साढ़े चार सालों से सांसद हैं।

 
पीएम मोदी को हराने के लिए सभी विपक्षी दल एक साथ आएः स्मृति ईरानी

उन्होंने कहा कि इस सीट की पांच विधानसभा सीटों में से चार में कांग्रेस की जमानत जब्त हो गई थी। तब भी कांग्रेस उत्तर प्रदेश के अमेठी से अकेले नहीं लड़ी थी। 2019 में कांग्रेस के अमेठी में चार लाख से अधिक वोट थे जो कि पिछला चार दशकों से एक परिवार के लिए पक्के वोट थे। लेकिन अब यह वोट संख्या घटकर 1.2 लाख रह गई है।

यह भी पढ़ें – PM  मोदी ने फलस्तीन के राष्ट्रपति से बात करके जताई संवेदनाएं, फलस्तीनी लोगों के लिए मानवीय सहायता भेजने की घोषणा”

उन्होंने कहा कि PM नरेन्द्र मोदी को हराने के लिए सभी विपक्षी दल एक साथ आ गए हैं। यह सबसे बड़ा संकेत है कि मोदी तीसरे कार्यकाल के लिए फिर से चुनकर आएंगे। अगर आपको 2024 में चुनावी सफलता का संकेत अब भी नहीं दिखता तो इससे बड़ा सबूत और क्या होगा।

महिला आरक्षण कानून पर क्या बोलीं स्मृति ईरानी?

यह पूछे जाने पर कि क्या महिला आरक्षण कानून एक चुनावी स्टंट है, उन्होंने कहा कि पहला परिसीमन संविधान के अनुच्छेद 82 के अनुसार 2026 में होना है। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस का महिला आरक्षण बिल को पास करने का तो कभी इरादा ही नहीं था। केंद्रीय मंत्री ईरानी ने नई दिल्ली में एक बयान जारी करके बताया कि केंद्र सरकार अगले हफ्ते तक पांच हजार क्रेच की स्थापना करेगी।

(Visited 194 times, 1 visits today)