युवती की मौत मामले में कांग्रेस ने जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्रवाई की उठाई मांग

डीएवी कॉलेज की दीवार टूटने से उसके नीचे दबकर युवती की मौत का मामला लगातार तूल पकड़ता जा रहा है। अब कांग्रेस ने भी इस मामले पर जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। कांग्रेस का कहना है कि दीवार की बदहाल हालत को लेकर कई बार शिकायत के बावजूद भी कॉलेज और जिला प्रशासन ने  कोई कार्रवाई नहीं की। जिसकी वजह से एक मासूम ने अपनी जान गवां दी। उन्होंने कहा कि यह मौत नहीं बल्कि हत्या है जिसके लिए आरोपियों को सजा मिलनी ही चाहिए। यही नहीं उन्होंने मृतका के परिजनों को उचित मुआवजा देने की बात भी कही है।

लड़की की मौत पर डीएवी कॉलेज में छात्रों का जोरदार प्रदर्शन  

देर रात डीएवी कॉलेज में  दीवार गिरने से लड़की की मौत मामले  पर NSUI, आर्यन व ABVP छात्रसंगठन से जुड़े छात्रों ने जोरदार प्रदर्शन किया। छात्रों ने प्राचार्य कार्यालय और मुख्य गेट के आगे नारेबाजी करते हुए प्राचार्य से इस्तीफे की मांग की।

छात्रों ने कहा, करीब डेढ़ महीने पहले ही कॉलेज प्रशासन को दीवार की हालत के बारे में बताया गया था। दीवार हादसे का कारण न बने इसके लिए छात्र समय रहते उसकी मरम्मत कराने की मांग कर रहे थे। लेकिन कॉलेज प्रशासन ने छात्रों की मांगों को अनदेखा करने का काम किया।

आखिर क्या है मामला 

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार मृत सुषमिता तोमर पुरोला डिग्री कॉलेज में कनिष्ठ सहायक के पद पर कार्यरत थीं। हाल ही में उसकी नौकरी लगी थी। उसका भाई रघुवीर तोमर देहरादून में डीएवी में पढ़ता है। करनपुर क्षेत्र में ही कमरा लेकर रह रहा है। सुषमिता अपने भाई के यहां आई हुई थी। रात करीब साढ़े आठ बजे के करीब भाई-बहन करनपुर घूमने आए थे। औरघूमने के बाद साथ में पैदल अपने कमरे की तरफ जा रहे थे तभी डीएवी कॉलेज की पीछे वाली दीवार भरभरा कर गिर गई। और दोनों भाई बहन इसकी चपेट में आ गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों घायलों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां डॉक्टर ने सुषमिता को मृत घोषित कर दिया।

रघुवीर तोमर का इलाज चल रहा है। वह भी गंभीर रूप से घायल है। इंस्पेक्टर कोतवाली डालनवाला राजेश शाह ने बताया कि दीवार काफी पुरानी थी। मृतका के परिजनों को सूचित कर दिया है। शव को पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी में रख दिया गया है।I

(Visited 328 times, 1 visits today)