पहाड-पर्यावरण

पहाड-पर्यावरण

पहाड-पर्यावरण

1500 साल पहले लोगों का कैसे होता था मनोरंजन?

लोगों की यह आम धारणा है कि सांडों की लड़ाई यूरोप के देशों में होती थी और भारत में इसकी कोई प्रथा ही नहीं थी, लेकिन सिरपुर के तिवरदेव विहार का जो प्रवेश द्वार...

हमारे पूर्वोत्तर राज्यों को सुखाना चाहता है चीन

The model is talking about booking her latest gig, modeling WordPress underwear in the brand latest Perfectly Fit campaign, which was shot by Lachian Bailey. It was such a surreal moment cried she admitted. The...

उत्तराखंड में भी मौजूद हैं हिम तेंदुए

उत्तराखंड में दुर्लभ हिम तेंदुए की मौजूदगी हमेशा से उत्सुकता का विषय रहा है, लेकिन विश्व प्रकृति निधि (डब्लूडब्लूएफ) के सर्वे ने उम्मीद की एक किरण जगाई है। उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में किए गए...

तालिबान के दुश्मन ड्रोन असम में गैंडों को बचाएंगे

पाक-अफगान सीमा पर तालिबान के दांत खट्टे करने वाले मानवरहित छोटे ड्रोन विमान अब असम में काजीरंगा के गैंडों की निगरानी करेंगे। अब शिकारी गैंडों का शिकार तो दूर काजीरंगा में फटकते भी पाए...

कुदरत की नायाब इंजीनियरिंग

ये है मेघालय का चेरापूंजी। दुनिया में सबसे अधिक वर्षा वाले स्थानों मे से एक। यहां कुदरत पानी बनकर रास्ता रोकती भी है तो खुद ही पुल बनकर उसे पार भी करा देती है।...

मोनाल: प्रकृति के विविध रंगो का संयोजन

हिमालयी मोनाल जिसे नेपाल और उत्तराखंड में डाँफे के नाम से जानते हैं। यह पक्षी हिमालय पर पाये जाते हैं। यह नेपाल का राष्ट्रीय पक्षी और उत्तराखण्ड का राज्य पक्षी है। मोनाल फ़ीसण्ट (Pheasant)...