जानें, आपके बॉडी सिस्टम पर कैसा प्रभाव डालता है स्ट्रेस

0
56

नई दिल्ली: हम सब ने कभी न कभी स्ट्रेस को झेला है। स्ट्रेस से शरीर में प्राकृतिक तौर पर किसी खास स्थिति, उत्तेजना या परिवर्तन में बदलाव दिखता है। सभी स्ट्रेस खतरना नहीं होता है क्योंकि यह लोगों को अपने कार्यों या उद्देश्यों को पूरा करने के लिए प्रोत्साहित करता है। इसलिए जानना जरूरी है कि स्ट्रेस या स्ट्रेसफुल इवेंट का सामना कैसे किया जाए। यह शरीर पर पड़ने वाले स्ट्रेस के प्रभाव को कम या रोक सकता है।

स्ट्रेस ऐसे आपके बॉडी सिस्टम पर डालता है प्रभाव-
  नर्वस सिस्टम- जब आपका बॉडी स्ट्रेस में होता है तब सिम्पथेटिक नर्वस सिस्टम ‘फाइट या फ्लाइट’ प्रतिक्रिया देता है। सिंग्नेलिंग एड्रेनल ग्रंथि एड्रेनालाईन और कोर्टिसोल हार्मोन्स रिलीज करता है। यह हार्मोन्स तेज हार्ट बीट को कम करता है, श्वसन दर को कम करता है, पैर और बांह की ब्लड वाहिकाएं को फैलाता है। ब्लड स्ट्रीम में ग्लूकोज लेवल और डायजेस्टिव प्रोसेस में बदलाव लाता है।

कार्डिओवस्क्यूलर सिस्टम:- क्रोनिक स्ट्रेस हार्ट और ब्लड वाहिकाएं के लिए लंबी अवधि की परेशानियों को बढ़ा सकता है परिणाम स्वरूप हार्ट बीट और बढ़ सकता है इसके अलावा ब्लड प्रेशर और स्ट्रेस हार्मोन्स का लेवल भी ऊपर जा सकता है। जिससे हाई ब्लड प्रेशर, हार्ट अटैक या स्टोक्स बढ़ सकता है। भारी तनाव से कोरोनरी धमनियों में सूजन हो सकता है। जिससे हार्ट अटैक का खतरा बड़ सकता है।

रेस्परटरी सिस्टम:- स्ट्रेस स्थामा और फेफड़े के रोगियों के घातक है क्योंकि इससे सांस लेने की तकलीफ और बढ़ सकती है। स्ट्रेस सांस लेने की गति तेज या हाइपर्वेन्टलेशन हो सकती है। इससे कुछ लोगों में तुरंत परेशानी बढ़ सकती है।

गैस्ट्रोइन्टेस्टनल सिस्टम:- क्रोनिक स्ट्रेस आपके भोजन-नली, पेट, आंत, गैस्ट्रोइन्टेस्टनल परेशानी, हार्टबर्न या एसिड रिफ्लक्स, वोमटिंग, डायरिया और कब्ज को बढ़ा सकता है।

रिप्रडक्टिव सिस्टम:– स्ट्रेस महिला और पुरुष दोनों की फर्टिलिटी को गड़बड़ कर सकता है। पुरुषों में, कोर्टिसोल का लेवल बढ़ जाता है जो पुरुष के नॉर्मल रिप्रडक्टिव सिस्टम पर प्रभाव डालता है। क्रोनिक स्ट्रेस के चलते टेस्टास्टरोन प्रोडक्शन, स्पर्म के निर्माण और जनन अंग सामान्य रूप से कार्य नहीं करता है। महिलाओं में, स्ट्रेस मासिक धर्म चक्र को अनियंत्रित और पेनफुल बना सकता है। कुछ महिलाओं में यौन इच्छाओं में कमी ला सकता है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY